मार्च के महीने में कुछ जगहों पर सरिये का भाव 85 हजार रुपये टन तक पहुंच गया था. 

अभी  यह अलग-अलग शहर के हिसाब से 51,500 रुपये से लेकर 61,800 रुपये प्रति टन तक के भाव में मिल रहा है.

 जून महीने के पहले सप्ताह में तो यह कम होकर कई जगहों पर 44 हजार रुपये टन के पास आ गया था.

मई महीने में बॉटम छूने के बाद देश भर में सरिया का रेट (Sariya Prices) फिर से बढ़ने लगा है. 

इस कारण पिछले डेढ़ महीने में देश के विभिन्न शहरों में सरिया का रेट (Iron Bar Rate) 6,500 रुपये प्रति टन तक महंगा हुआ है.

इसका मुख्य कारण मानसून (Monsoon) का आना और भाव कम होने पर डिमांड बढ़ना है. 

बारिश का मौसम शुरू होते ही सरिया, सीमेंट, बालू , ईंट आदि समेत लगभग सभी बिल्डिंग मटीरियल्स के दाम बढ़ने लग जाते हैं.

 मुंबई में बीते डेढ़ महीने में सरिया के भाव महज 500 रुपये प्रति टन बढ़े हैं.

वहीं दूसरी ओर अन्य शहरों में इसमें 2,500 रुपये से लेकर 6,500 रुपये प्रति टन तक की तेजी आई है.

अभी देश में सबसे सस्ता सरिया पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में मिल रहा है, जहां इसका ताजा रेट 51,500 रुपये प्रति टन है. 

वही उत्तर प्रदेश के कानपुर में इसका रेट सबसे ज्यादा है. कानपुर में सरिया अभी 61,800 रुपये प्रति टन के भाव में मिल रहा है.