बदलते समय के अनुसार लोग नए-नए सिरे से अपने मकानों का निर्माण करवा रहे हैं, जिसके चलते भारत में कंस्ट्रक्शन का काम अधिक बढ़ गया है। 

कंस्ट्रक्शन का काम अधिक बढ़ने से मार्केट में बिल्डिंग मटेरियल की भी अधिक आवश्यकता होने लगी है।  

ऐसे  में यदि आप बिल्डिंग मटेरियल का बिजनेस करना चाहे तो यह बिजनेस आपके लिए बहुत ही फायदेमंद रहेगा।  

जो भी व्यक्ति बिल्डिंग मटेरियल का व्यवसाय करता है वह कभी भी घाटे में नहीं जाता है, क्योंकि बिल्डिंग मटेरियल की मांग मार्केट में हमेशा होती है। 

इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको ऐसी जगह का चुनाव करना होगा जहां माल के लिए बड़े वाहन आसानी से आ सके। 

ऐसे में आपको कम से कम 3 से 4000 स्क्वायर फीट की जगह की जरूरत हो सकती है। 

इस बिजनेस की शुरुआत से पहले आपको लाइसेंस लेना आवश्यक होगा।  

इसके लिए आपको एमएसएमई के तहत उद्योग आधार पंजीकरण कराना होगा। 

इसके बाद यदि आप बिजनेस के लिए लोन लेना भी चाहे तो आपको आराम से मिल जाएगा। आपको जीएसटी रजिस्ट्रेशन भी कराना होगा। 

लंबे समय तक बिजनेस को चलाने के लिए आपको अपनी दुकान में ज्यादा से ज्यादा बिल्डिंग मटेरियल रखना होगा ताकि आपके यह अधिक से अधिक ग्राहक आ सके। 

इसके लिए आपको बिल्डिंग मैटेरियल यानी कि लोहा और सीमेंट बनाने वाली कंपनियों से संपर्क करना होगा। 

इसके अलावा आपको बालू रेत और गिट्टी जैसी चीजें क्रेशर जैसी जगहों से आसानी से मिल जाएगी।

मटेरियल खरीदने से पहले आप एक सूची तैयार करें कि, आपको कितने माल की जरूरत होगी।

इसके बाद आप इन सभी कंपनियों से संपर्क कर अपनी जरूरत के अनुसार माल मंगवा सकते हैं।